कमजोर बच्चे अपनाये ये 7 तरीक़े और हासिल करे गणित में महारथ।

गणित काफी दिलचस्प विषय है जो कि प्राचीन काल से चला आ रहा है लेकिन हममें से ज्यादातर छात्रों के लिए गणित एक उबाऊ, तनावपूर्ण और कठिन विषय रहा है हर एक व्यक्ति को अपनी पढ़ाई के दौरान कभी ना कभी इस विषय का अध्ययन करना ही पड़ता है।

ज्यादातर विद्यार्थी मैथ का चुनाव करने से बचते हैं क्योंकि उनको लगता है कि यह काफी कठिन विषय है जिसको आसानी से नहीं सीखा जा सकता। अक्सर बच्चों का सवाल रहता है कि मैथ कैसे सीखी जाए या गणित में कैसे अच्छे बने? ज्यादातर छात्रों को यह समस्या होती है क्योंकि वह यह नहीं जानते की गणित का अध्ययन कैसे करना चाहिए ?

गणित में तेज कैसे बने | Maths me top kaise kare

आज के इस पोस्ट के माध्यम से हम गणित के अध्ययन करने के कुछ ऐसे उपाय और तकनीक के बारे में जानेंगे जिन जिसकी मदद से आप गणित को एक दिलचस्प विषय के रूप में लेकर पढ़ सकते हैं।

 गणित का प्रयोग हम हर एक महत्वपूर्ण क्षेत्र में करते हैं जैसे  कि विज्ञान, व्यापार, उद्योग, अभियांत्रिकी, कला, संगीत, एक तरह से कहे तो गणित के ऊपर सारा विज्ञान टिका है।

math me topper kaise bane

अगर आप इस पोस्ट में बताए गए तरीकों का पालन करते हैं तो आपकी रूचि पहले से कहीं ज्यादा इस विषय की ओर हो जाएगी जैसे-जैसे आप का लगाव  बढ़ेगा आप गणित जैसे कठिन विषय को भी आसानी से समझने लगेंगे 

आइए जानते हैं कि गणित समझ में नहीं आती क्या करें? गणित में कमजोर छात्र क्या करें? गणित पढ़ना कहां से शुरू करें और गणित को किस तरीके से पढ़ें की हम एग्जाम में अच्छे नंबर से पास हो सके।

अपना Base मजबूत करें।

हममें से ज्यादातर लोग को गणित इसलिए कठिन विषय लगता है क्योंकि हममें से ज्यादातर लोग को बुनियादी जानकारी नहीं होती है जिसकी वजह से गणित हमें एक कठिन विषय लगता है और हम अक्सर ऐसी भी बातें सुनते रहते हैं कि गणित एक बहुत ही कठिन विषय है जिसको सिर्फ तेज दिमाग वाले ही छात्र ले सकते हैं।

जबकि इसकी वास्तविकता बिल्कुल ही अलग है गणित नंबरों पर आधारित है हम इसको सीखने और समझने के बजाय इसको रटने लगते हैं जिसका हमें ज्यादा अच्छा परिणाम देखने को नहीं मिलता गणित कोई रटने वाला विषय नहीं है। यदि आप इसको समझ कर पढ़ें तो यह बुनियादी जीवन का आधार भी है।इसलिए गणित को समझने की कोशिश करिए और इसे बिल्कुल शुरू से शुरू करे, और किसी अध्यापक की सहायता ले।

जो व्यक्ति पढ़ा लिखा नहीं भी है उसको भी गणित की बेसिक जानकारी होती है जैसे कि गुंडा करना, जोड़ना, भाग देना, घटना, आदि। जो गणित के बड़े -बड़े सवालों को हल करने में मदद करते है। 

स्वयं से पढ़ना शुरू करे

अगर आप गणित में महारत हासिल करना चाहते हैं तो आप आज से ही स्वयं से गणित को पढ़ना शुरू कर दें।

निरंतर प्रयास करें सवालों को पहले समझे और फिर उस के अनुसार उनका समाधान निकालें बहुत बार ऐसा होगा कि आप किसी सवाल का समाधान नहीं निकाल पाएंगे लेकिन धीरे-धीरे निरंतर प्रयास करने से आपको चीजें समझ में आने लगेंगी और आप उन फार्मूला की मदद से बड़े-बड़े सवालों के भी जवाब आसानी से निकाल पाएंगे।

निरंतर प्रयास करें

निरंतर प्रयास करने से आप किसी भी क्षेत्र में सफलता प्राप्त कर सकते हैं। MATH  हर जगह लागू होती है सफलता का एक ही मूल मंत्र है कि आप निरंतर प्रयास करते रहें गणित जैसे कठिन विषय को समझने के लिए आपको निरंतर प्रयास करने की जरूरत है।

गणित से जुड़ी मूलभूत जानकारी आपके पास होनी चाहिए ताकि आप आने वाली हर एक समस्या का समाधान आसानी से निकाल लें।निरंतर प्रयास करने से आपको चीजें याद रखने और समझने में आसानी होगी मैथ में बहुत सारे फार्मूले होते हैं जिनको आप याद कर लेंगे तो बाद में भूल भी जाएंगे लेकिन अगर आप उन पर निरंतर प्रयास करते हैं तो आप ना तो उनको जल्दी भूलेंगे और ना ही आपको कोई दिक्कत आएगी किसी सवाल को सॉल्व करने में।

अध्यापक से सलाह लें

गणित में काफी सारे विषय पढ़ने पड़ते हैं जैसे कि कैलकुलस, ट्रिग्नोमेट्री, अलजेब्रा, कंपलेक्स एनालिसिस, डिफरेंट इक्वेशन, फंक्शंस, जमेट्री थ्योरी, नंबर.

सभी विषयों में बहुत सारे फार्मूले होते है। सभी को याद रख पाना आसान नही है। ऐसे में आप अपने अध्यापक से सलाह लें सकते है की कैसे आप सभी को आसनी से याद कर सकते है। नये-नये सवालों को सॉल्व करने की कोशिश करते रहे, इससे आपको गणित को समझने में हेल्प मिलेगी। जिन विषयों में आपको दिक़्क़त आ रही है उसमें अपने अध्यापक की मदद ले।

गणित को रटे नही बल्कि समझे 

ज्यादातर विद्यार्थी मैथ को समझने के बजाये, उसे रटना शुरू कर देते है। और ऐसा अक्सर देखा गया है की यदि कोई समझने के बजाए रटना शुरू करता है तो वह केवल उन्ही सवालों को हल कर पाने में सक्षम होते है जो उसने याद किया है। बाक़ी अन्य सवाल को जवाब के लिए वो दूसरों पर निर्भर होते है।

गणित में तेज होने का एक ही तरीक़ा है की आप पहले समझे की कौनसा सूत्र किस प्रकार के सवालों को हल करने के लिए बनाया गया है। इसे यह फ़ायदा होगा की अगर कभी कोई सवाल घुमा कर भी पूछा जाएगा तब आसनी से हल कर पायेंगे। 

गणित से भागे नही, प्रयास करे 

अक्सर देखा जाता है की जब कोई सवाल किसी विद्यार्थी से नही हो पता हो वह उस सवाल से भागना शुरू कर देता है। ऐसा करने से बचे और खुद को तैयार करे की आप यह कर सकते है। कुछ समय का ब्रेक ले, खुद को टाइम दे, अपना पसंदीदा काम करे और दिमाग़ को relex कर पुनः उस सवाल को हल करने की कोशिश करे, नये सूत्र का उपयोग करे।

गणित में हर एक सवाल हल करने के बहुत सारे तरीक़े है। नये सूत्रों की मदद ले, दोस्तों से पूछे, उसे जुड़े अन्य सवालों को भी हल करके समाधान निकाले। वर्गमूल, गुणन, विभाजन, वर्ग, कैलकुलस, ट्रिग्नोमेट्री,एलसीएम के कठिन सवालों को कम से कम समय में हल करने का प्रत्यंत करे। 

टाइम टेबल बनाये 

हालाँकि यह बात मैं बिल्कुल अंत में आपसे बोल रहा हूँ, क्योंकि हमारे पास math पढ़ने के अलावा और भी अन्य कई विषय है जिनको पढ़ना है। ऐसे में अगर आप सभी विषय के लिए समय निर्धारित नही करते हैं, तब अन्य विषयों में आपके कम अंक आ सकते है। इसलिए टाइम टेबल बनाये  और उसके हिसाब से पढ़े। साथ ही –

  • फ़ार्मूला याद करे।
  • theory को ध्यान से पढ़े।
  • जोड़, घटाने, भाग, वर्ग, टेबल, गुणा जैसे अन्य मूलभूत जानकारी पर अपनी पकड़ बनाये।
  • अपनी कैलकुलेशन  मज़बूत करे।
  • दोस्तों के साथ अभ्यास करे 
  • अध्यापक से सलाह लेते रहे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: