आईपी एड्रेस क्या है और यह कितने प्रकार का होता है?

IP Address kya hai :- अगर आप google पर सर्च करते है what is my ip address तो आपको कुछ इस प्रकार का रिज़ल्ट मिलेगा जैसा की नीचे दिए गये पिक्चर में दिखाया गया है 

Picture 1

जैसा कि आप image में देख सकते है यह एक पब्लिक IP है इसके बारे में हम आगे जानेगे 

तो क्या आप जानते है पब्लिक आईपी ऐड्रेस क्या होता है? 

यदि नहीं तो आप बिलकुल सही जगह आए है आज हम IP address (Internet Protocol address) के बारे में जानेगे इसके साथ ही इसके types of ip address के बारे में भी जानेगे।

 यदि आप कम्प्यूटर या फिर मोबाइल का यूज़ करते है तो अपने कभी न कभी IP address का नाम सुना ही होगा,

अगर नहीं सुना तो मैं आपको बताना चाहूँगा की कोई भी डिवाइस जैसे Computer or mobile में हम internet का यूज़ करते है तो उस डिवाइस को एक unique address दिया जाता है जिसे हम IP Address कहते है 

IP address kya hota hai 

ip address full form Internet Protocol address को शॉर्ट में हम IP address और IP भी बोलते है जो एक unique address होता है 

unique address से मेरा मतलब है  जब कोई डिवाइस Internet या local network में कनेक्ट होता है तो उसे एक unique address मिलता है जिसे IP address कहते है जो network में connected उस hardware डिवाइस को उसके unique address से identify करता है।

इसे आसान भाषा में समझे तो अगर किसी network में 10 डिवाइस connected तो आप यह कैसे पता करेंगे की किस डिवाइस को क्या आईपी मिली है?

Picture 2

जैसे की आप पिक्चर में देख पा रहे है की हर एक डिवाइस को एक अलग और unique ip मिली है 

इसका मतलब connected सभी अग़ल -अग़ल ip address and mac address difference  connected device के है जो unique ip का यूज़ कर रहे है 

Internet Protocol (IP) computers को allow करता है जिसे वो डेटा को internet पर send और receive कर पाए 

वैसे तो आईपी ऐड्रेस अब तक केवल numerical ही होते थे, लेकिन दिन प्रतिदिन यूज़र ज़्यादा होने से इसमें अब latters को भी जोड़ दिया गया है 

कम्प्यूटर को इंटरनेट से कनेक्ट करने के लिए हम राउटर, स्विच, हब, wireless router जैसे networking डिवाइस का यूज़ करते है 

वही स्मार्ट्फ़ोन में इंटरनेट यूज़ करने के लिए किसी operator का SIM यूज़ करते है नहीं तो wi-fi 

आइए जब जानते है ये कितने प्रकार के होते है 

Types of IP Address in Hindi (आईपी एड्रेस के प्रकार)

IP Addresses, 2 types की होती है 

  1. Public IP Addresses 
  2. Private IP Addresses 

Public IP Addresses :

पब्लिक IP एड्रेस जो हमें ISP (Internet Service Provide) द्वारा मिलता है जिसे से इंटरनेट से कनेक्ट हो पाते है 

यही main address होता है जिसका यूज़ कर के Home और offices में internet का यूज़ किया जाता है 

जैसा कि हमें image no.1 में देखा था 

 Private IP Addresses

Picture no.2 में हमें देखा की हर एक डिवाइस को एक unique private IP मिली है जिसका यूज़ करके local network में connected सारे devices, internet का यूज़ कर रहे है।

Private IP में दो Category होती है

  1. Dynamic IP Addresses 
  2. Static IP Addresses

Dynamic IP Addresses 

यह एक अस्थायी आईपी एड्रेस  होता है जो हर समय बदलता है जब भी डिवाइस नेटवर्क से disconnect हो के फिर से connect होता है Dyanamic IP डिवाइस को तब मिलती है जब राउटर पर DHCP configure हो।

जैसा की आप picture no.3 में देख सकते है  

अब जैसा कि आप इस पिक्चर में देख सकते है की

Connection type – Dynamic है और LAN (192.168.1.1) और WAN (192.168.0.1) Port पर different IP, Configure किया गया है 

यहाँ दो अलग-अग़ल network को router की मदद से connect किया गया है 

Static IP Addresses 

जब भी किसी कम्प्यूटर को manual IP दीं जाती है तो वह Static IP होता है जो खुद नहीं बदल सकता जब तक उसे Admin ना change ना करे, 

अगर picture no.3 में connection type Static होता तो हर एक डिवाइस को manual ip देना होता, जो थोड़ा मुस्किल कम हो जाता है 

static ip addresses का यूज़ हम छोटे network में करते है जहाँ devices कम होते है जैसे को cybercafe या किसी अन्य recharge shop में।

IP address and its classes in Hindi 

आईपी एड्रेस के अभी तक केवल 2 ही वर्ज़न है 

  • IPv4 (Internet Protocol Address V.4) 32 bits 
  • IPv6 (Internet Protocol Address V.6) 128 bits 

IPv 4 और IPv 6 क्या है?

जैसा की मैंने आपको पहले ही बताया की हर एक डिवाइस को एक unique address दिया जाता है जिसे नेटवर्क में उस डिवाइस की पहचान की जाए,

IP की बढ़ते माँग को देखते हुए माना जा रहा था की IPv4 में केवल 4 billion ही unique IP addresses है जो इस माँग को पूर्ण नहीं कर पा रही है 

वही अगर IPv6 की बात की जाए तो किसी भी नेटवर्क में कनेक्ट हर एक डिवाइस के लिए एक यूनीक ऐड्रेस चाहिए 

IPv6 340 trillion, ट्रिल्यन IP को सपोर्ट करता है इसका मतलब है हर एक इंसान billion डिवाइस को इंटरनेट से कनेक्ट कर पाएगा।

IPv4 Classes और Range 

IPv4 को 5 Classes में बाटा गया है 

  • Class A range – 0.0.0.0 से 127.255.255.255
  • Class B range – 128.0.0.0 से 191.255.255.255
  • Class C range – 192.0.0.0 से 223.255.255.255
  • Class D (multicast) range – 224.0.0.0 से 239.255.255.255
  • Class E (reserved) range – 240.0.0.0 से 255.255.255.255

Note : 127.0.0.0 -127.255.255.255 ( Loopback Range)

Class A, B or C की Private IP Range 

  • Class A:- 10.0.0.0 to 10.255.255.255
  • Class B:– 172.16.0.0 to 172.31.255.255
  • Class C:– 192.168.0.0 to 192.168.255.255

IP address configuration kya hota hai

जब किसी नेटवर्किंग डिवाइस को ऑटमैटिक आईपी ना प्रवाइड करके उसको मैन्यूअल आईपी प्रवाइड करने के लिए डिवाइस को configure किया जाता है

तो जैसा कि आप देख पा रहे है कि मैं Wi-fi का यूज़ कर रहा हूँ जहाँ मैंने router पर आईपी पहले से configure कर रखी है अगर इस configuration को बदलने के लिए आपको Configure IPv4 – Using DHCP से Manual कर के इसको चेंज कर सकता हूँ, जिसे हम आईपी configuration कहते है

आज हमें क्या जाना 

 दोस्तों आज की इस पोस्ट में हमने जाना की IP Address kya hota hai और IP Address कितने Types के होते है इसके साथ ही हमें IPv4 और IPv 6 के बारे में भी जाना साथ में IPv4 Classes range 

आशा करता हूँ आपको पूरी जानकारी प्राप्त हो गयी हो गयी होगी आपका कोई सवाल या सुझाव है तो आप हमें कॉमेंट करके पूछ सकते है। पोस्ट को अपने दोस्तों, सोशल मीडिया पर शेयर करे।ताकि लोगों को सही जानकारी मिल सके 

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.