Web Hosting kya hai? Web hosting कितने प्रकार की होती है?

दोस्तों Web hosting kya hai? वेब होस्टिंग क्या होती है वेब होस्टिंग कितने प्रकार की होती है वेब होस्टिंग हमें लेते समय हमें किन-किन  बातों का ध्यान रखना चाहिए।

आज की इस पोस्ट में हम वेब होस्टिंग से जुड़ी इन सभी प्रकार की जानकारी से अवगत होगे।

दोस्तों अगर आप अपनी खुद की वेबसाइट या फिर ब्लॉग बनाना चाहते हैं तो आपको वेब होस्टिंग के बारे में पता होना चाहिए। क्यूँकी वेबसाइट बना लेना बड़ी बात नही है साइट को maintain करना भी उतना ही ज़रूरी है। ऐसे में अगर आप कोई ग़लत hosting या domain ख़रीद लेते है तो इससे आपको परेशानी हो सकती है।

जैसा कि आपको पता है की एक सर्वर को बनाने के लिए आपके पास सर्वर की अच्छी जानकारी होनी चाहिय, जिससे की आप अपने लिए एक अच्छा सर्वर बना सक़े। लेकिन जैसा कि हम जानते है की सर्वर की क़ीमत बहुत ज़्यादा होती है और हर कोई इसे नही बना सकता।

ऊपर से सर्वर का maintenance कर पाना भी उतना आसान नही है जिसे कारण हम किसी कम्पनी से होस्टिंग का प्लान ख़रीदते है।

वेब होस्टिंग क्या होता है आज हम इसको रियल एग्जांपल के साथ समझेंगे ताकि आपको कोई दिक्कत ना हो और आप आसानी से समझ पाए होस्टिंग और डोमेन क्या है। इसके वेब होस्टिंग के क्या फायदे होते हैं के बारे में भी जानेंगे

FAUG Game kya hai, kaise download kare

वेब होस्टिंग क्या है? Web Hosting kya hai?

इंटेरनेट पर वेबसाइट कैसे बनाए? इस सवाल का जवाब हर कोई जानना चाहता है जो भी इंटेरनेट से पैसे कमाना चाहता है।

ऐसे में website बनाना है तो उसके लिए कुछ जगह तो चाहिय ही होगी, जहाँ पर हम अपने वेबसाइट के content जैसे – Image, Video or Post अपलोड कर सके। ऐसे में हमें  इंटेरनेट पर कुछ स्पेस चाहिय होती है। जिसे हम होस्टिंग प्रवाइडर से ख़रीदते है 

वेब होस्टिंग एक सर्विस है जिसके माध्यम से हम अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर कांटेक्ट को अपलोड करते हैं 

जैसे की images, videos फ़ाइल को स्टोर करने के लिए हमें एक स्पेस चाहिए।

 ऐसे में वह स्पेस हम वेब सर्विस प्रोवाइडर से खरीदते हैं जैसे कि ब्लूहोस्ट,  होस्टिंगर इत्यादि  

इसके साथ ही आपकी साइड की  24 * 7 अपडेट और यूज़र के लिए उपलब्ध होनी चाहिए जिससे कि यूजर को डाटा एक्सेस करने में कोई प्रॉब्लम ना आए इसके लिए काफी सारी वेब होस्टिंग सर्विसेज आती हैं जिनको आप खरीद सकते हैं साथ ही हर सर्विस के अलग प्राइस होती है।जिन के बारे में हम आगे जानेगे।

अगर हम इसे एक सरल भाषा में समझे तो

 web hosting service एक टाइप की internet hosting service hai, जिसके माध्यम से हर एक व्यक्ति और कम्पनी अपनी वेबसाइट बना कर (World Wide Web) इंटरनेट पर चला सकता है। वेब होस्टिंग के लिए एक powerful server की ज़रूरत होती है जो इंटेरनेट से कनेक्ट होना चाहिय।जिसके माध्यम से हम अपने website का डेटा जैसे विडियो और इमेज अपलोड कर सक़े।

Types of WebHosting in Hindi- वेब होस्टिंग कितने प्रकार के होते है?

वैसे तो वेब होस्टिंग कई प्रकार के होते है। लेकिन जब हम वेबसाइट बनाते है तो अपनी अनुसार हम होस्टिंग लेते है जो की 4 प्रकार की है।

  • Shared
  • Dedicated
  • VPS
  • Cloud

आइए एक-एक करके इनके बारे में जानते है।

जाने :- ब्लॉग क्या होता है और कैसे बनाए

Shared Hosting 

जैसे की इसके नाम से ही आपको पता लग गया होगा। इस प्रकार की होस्टिंग को बहुत सारे वेबसाइट एक ही सर्वर से यूज़ कर रहे होते है।

यह होस्टिंग सस्ती होती है क्यूँकि एक ही server के RAM, Space or CPU का सब यूज़ कर रहे होते है।

यह ठीक उसी  तरह से है जैसे की आपने एक किरायें  पर कुछ दोस्तों के साथ रूम लिया, जिसका पैसा सब थोड़ा-थोड़ा कर के दे रहे है।

ऐसे में जहाँ एक ही सर्वर पर अनेको वेबसाइट चल रही है तो इस होस्टिंग के अपने कुछ फ़ायदे ओर नुक़सान भी है।

फ़ायदे (Benefits of shared Hosting)

नए ब्लॉगर के लिए best hosting है 

इसकी क़ीमत कम होती है।

नुक़सान ( disadvantage of Shared Hosting)

  • वेबसाइट पोपुलर होने या ज़्यादा ट्रैफ़िक आने पर वेबसाइट डाउन हो सकती है जिसे आपको काफ़ी नुक़सान हो सकता है।
  • नए ब्लॉगर के लिए यह इसलिए अच्छा माना जाता है क्यूँकि नए ब्लॉग पर प्रतिदिन उतना ट्रैफ़िक नही आता जिससे की साइट slow हो।

Dedicated Web Hosting 

इस होस्टिंग में सर्वर आपका होता है। जिससे की आपकी साइट को performance, security or speed अच्छी मिलती है। 

ज़्यादातर e-commerce website इस सर्विस का यूज़ करती है। जिससे की यूज़र को साइट हर समय अच्छे से चलती मिले।

Example :- जैसे की मैंने कोई shop ली, अब उस shop का मालिक पूरी तरह से मैं हूँ और मुझे पूरा अधिकार है की मैं अपनी shop में क्या-क्या रख सकता हूँ।

Benefits & disadvantage

  • इसमें हमें high performance मिलती है।
  • इसके फ़ायदे बहुत है लेकिन यह महँगा होता है।
  • यह आपके साइट पर आने वाले ट्रैफ़िक को अच्छे से हैंडल कर लेता है।

VPS (Virtual Private Server Hosting)

इस होस्टिंग में एक ही सर्वर को कई सारे अलग-अलग वर्चूअल होस्टिंग में बाटा जाता है। इसे हम shared or dedicated hosting का मिश्रण समझ सकते है।

इस होस्टिंग में हमें अपनी वेबसाइट के लिए एक अलग से वर्चूअल सर्वर दे दिया जाता है जिस पर केवल आपका हक़ होता है। यही नही इस होस्टिंग में हमें space, computing power, speed or bandwidth ज़्यादा मिलता है।

ऐसे में अगर आप एक छोटा ब्लॉग या फिर बिज़्नेस शुरू करने जा रहे है जहाँ पर कम या ज़्यादा ट्रैफ़िक आता है। और आपको साइट की स्पीड अच्छी चाहिय तो आप इससे ख़रीद सकते है।

Benefits & disadvantage

  • डेडिकेटेड होस्टिंग से अच्छा नही है। लेकिन यह shared होस्टिंग के मुक़ाबले लेना अच्छा है।
  • यह ज़्यादा सिक्यर होता।
  • इसमें हमें अपना एक वर्चूअल सर्वर मिलता है।
  • पर्फ़ॉर्मन्स अच्छा देता है।
  • shared hosting से थोड़ा महँगा और dedicated hosting से सस्ता होता है।

Cloud Web Hosting 

इस होस्टिंग को सबसे अच्छा माना जाता है। क्यूँकि क्लाउड होस्टिंग में बहुत सारे सर्वर का ग्रूप होता है जो अलग-अलग देशों में स्थापित होते है। जिसे आपकी वेबसाइट बार-बार डाउन नही होती है। यह साइट पर आने वाले ट्रैफ़िक को अच्छें से सम्भाल पता है।

Benefits & disadvantage

  • हाई ट्रैफ़िक हैंडल होता है।
  • speed, performance or security मिलती है।
  • सर्वर डाउन और क्रश नही होता है।
  • इस होस्टिंग की क़ीमत बहुत ज़्यादा होती है।

अंतिम शब्द

दोस्तों आशा करता हूँ इस पोस्ट की हेल्प से आपको web hosting kya hai, kitne prakar ki होती है के बारे में बहुत कुछ पता चल गया होगा, और अब आपको किसी भी company, organisation या खुद के blog बनाने में  कोई परेशानी नही होगी, अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ ज़रूर शेयर करे।अगर अब भी आपका कोई सवाल या सुझाव है तो आप हमें कॉमेंट करके पूछ सकते है।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.