Delhi me lagu kiya 5T Plan aur isko kyu lagu kiya jata hai Jane

कोरोना से लड़ने के लिए दिल्ली में 5T Plan लागू कर दिया गया है।कोरोना वाइरस से आज हमारा पूरा देश इक्कीस दिनो के लिए lockdown है,और ये उम्मीद लगायी जा रही है की 15 April से Lockdown हटा दिया जाएगा।

लेकिन जिस हिसाब से कोरोना संक्रिमित मरीज़ों की संख्या में वृधि हुई है, हो सकता है की Lockdown की अविधि को आगे बढ़ा दिया जाए।

क्या है 5T PLAN  और क्या 5T PLAN  से हम कोरोना वाइरस को हरा देंगे इसलिए सबसे पहले हमें जानना होगा की ये 5T Plan क्या है? 5T Plan कैसे काम करता है? 5T PLAN  के तहत दिल्ली सरकार क्या क्या कदम उठाएगी?

5T Plan क्या है? दिल्ली सरकार ने क्यों लागू किया 5T Plan?

5T PLAN  के तहत दिल्ली सरकार निम्न स्टेप्स के साथ काम करेगी उसपे एक नज़र डालते है।

  1. TESTING 
  2. TRACING 
  3. TREATMENT 
  4. TEAMWORK 
  5. TRACKING & MONITORING 

कोरोना वाइरस के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए और उससे निपटने के लिए दिल्ली सरकार ने 5T PLAN  के तहत कमर कस ली है।lockdown के बाद भी जिस तरह से कोरोना संक्रमित मरीज़ों में वृधि हुई है ।

वो देश के लिए चिंता का विषय है और इसे गम्भीरता से लेने की ज़रूरत है।उसके बाद दिल्ली मरकज़ में जमातीयों के  हरकत ने देश को बहुत बड़ी मुसीबत में डाल दिया है ।

आज सिर्फ़ दिल्ली की बात करे तो संक्रिमित मरीज़ों की संख्या में लगभग 35% संख्या जमातीयों की है।

5T PLAN  के तहत दिल्ली सरकार कठोरता से इसके एक एक स्टेप्स पर  काम करेगी ,जिससे जल्द से जल्द इस महामारी पे क़ाबू पाया जा सके।

Testing

इस स्टेप के तहत दिल्ली सरकार ज़्यादा से ज़्यादा लोगों की Testing करेगी और उसके लिए दिल्ली सरकार अपने सभी हॉस्पिटल में इसके लिए दिशा निर्देश जारी करेगी।क्योंकि जिन देशों ने भी टेस्टिंग को गम्भीरता से नही लिया है आज वहाँ के परिणाम बहुत भयानक है और लोग इस महामारी का शिकार हो रहे है।

साउथ कोरिया इक्लोता ऐसा देश है जिसने कोरोना के दस्तक के साथ ही अपने यहाँ बड़े पैमाने में टेस्टिंग की और आज हम सब देख रहे है की साउथ कोरिया में आज तक Lockdown लगाने की नौबत नही आयी है।साउथ कोरिया ही पूरे विश्व में एक ऐसा देश है जीके नागरिकों ने सोशल डिस्टन्सिंग का पालन करके कोरोना जैसी महामारी पर क़ाबू पाया है।

दिल्ली सरकार  ने अपने 5T PLAN के प्रथम चरण में कम से कम 1 लाख लोगों की टेस्टिंग की योजना बनायी है।इससे पहले इतनी बड़े पैमाने में टेस्टिंग ना कर पाने का मुख्य कारण टेस्टिंग किट की कमी थी.

लेकिन दिल्ली सरकार ने अपने 5T plan के तहत 50000 टेस्टिंग किट का ऑर्डर कर दिया है,और साथ ही साथ दिल्ली के  जो स्थान कोरोना के होट स्पॉट बने हुए है

जैसे की निज़ामुद्दीन वहाँ पे दिल्ली सरकार रैपिड टेस्ट करवाएगी जिसके लिए भी किट्स ऑर्डर कर दिए गए है।और इन कोरोना हॉट स्पॉट को सील भी किया जा सकता है।

ये किट्स दिल्ली सरकार के पास शुक्रवार से आने शुरू हो जाएँगे।दिल्ली सरकार का ये कदम सराहनीय है और इसमें हमें सरकार का सहयोग करना होगा अन्यथा जिस तरह कोरोना संक्रिमितों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है हमें अपने घरों में लाक्डाउन लम्बे समय  तक रहना पड़ेगा।

Tracing

दिल्ली सरकार अपने 5T Plan के दूसरे चरण के तहत ट्रेसिंग करेगी,इस चरण में अपने टेस्टिंग में कोरोना से संक्रमित मरीज़ों के सम्पर्क में आए सभी लोगों की ट्रेसिंग करेगी और वो अभी तक कितने लोगों के सम्पर्क में आए है

उनकी ट्रेसिंग भी की जाएगी लेकिन इन्हें कुछ समय के लिए सेल्फ़  क्वॉरंटीन किया जाएगा जब तक की इनकी रिपोर्ट नही आ जाती है।

दिल्ली सरकार लगभग 27500 लोगों के नम्बर दिल्ली पुलिस को दिए है और दिल्ली पुलिस उनको ट्रैक कर रही है। साथ साथ दिल्ली सरकार निज़ामुद्दीन मरकज़  में आए जमातीयों की भी ट्रेसिंग कर रही है।

और दिल्ली मरकज़ के लगभग 2000 जमातीयों  के नम्बर भी दिल्ली पुलिस को देगी,ये लोग जिस जिस जगह पे गए है सरकार अपने 5T Plan के तहत उन इलाक़ों को सील कर देगी।

Treatment 

5T Plan के तीसरे चरण के तहत दिल्ली सरकार कोरोना संक्रिमित मरीज़ों का इलाज करवाएगी सिके लिए सरकार ने अपने कमर कस ली है,अब तक दिल्ली में कुल 525 कोरोना संक्रमित मरीज़ है।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपनी स्टेट्मेंट में बताया है कि अभि दिल्ली के पास कोरोना मरीज़ों के लिए 3000 बेड उपलब्ध है और अगर स्थिति उग्र रूप लेती है तो दिल्ली सरकार ने प्राइवट हॉस्पिटल्ज़ में लगभग 4000 बेड तयार कर रखे है।

दिल्ली सरकार ने कई सरकारी हॉस्पिटल को मुख्य रूप से कोरोना हॉस्पिटल बना दिया है,और अगर ज़रूरत पड़ी तो प्राइवट हॉस्पिटल ,होटेल्स,धर्मशाला  को भी कोरोना हॉस्पिटल में तब्दील किया जाएगा।

Tearmwork

कोरोना वाइरस से लड़ने के लिए 5T Plan का ये चरण सबसे महत्वपूर्ण है।  मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि  कोरोना वाइरस से अकेले नही लड़ा  जा सकता है ।

इसके लिए देश की सभी राज्य सरकारों को मिल कर काम करना होगा।सभी विभागों को भी एक जुट हो कर काम करना होगा।

हमारे नर्स और डॉक्टर इसमें सबसे अहम कड़ी है हमें इनका सहयोग करना होगा और देश की जानता को भी  लाक्डाउन का पालन करते हुए एक दूसरे को इस महामारी के विषय में जागरूकता फैलानी चाहिए।

Tracking & Monitoring 

अपने 5T Plan के तहत मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि अभी हमें सभी चीजों को ट्रैक करने की ज़रूरत है और उन्होंने इसकी पूरी ज़िम्मेदारी भी ली है की ये उनका काम है और वो इसे पूरा करेंगे, अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि हमें कोरोना को हराने के लिए उससे 3 कदम आगे रहना होगा।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.