RIP full form in hindi और रिप का उपयोग कब करते है- जाने

RIP Full Form in hindi :- दोस्तों जब से लोगों ने सोशल मीडिया का यूज़ करना है तब से उनकी ज़िंदगी में बहुत से बदलाव हुए है। 

ऐसे ही एक खाश तरह का बदलाव हमें आज-कल देखने को मिलता है जैसे कि लोगों ने अब अपनी बात को कम से कम शब्दों में लिख कर बताना शुरू कर दिया है।

ऐसा अपने भी बहुत बार किया होगा लम्बे शब्द ना लिख कर उसको शॉर्ट में लिखना,  ऐसा हम सबसे ज़्यादा चटिंग और कॉमेंट करते समय करते है। 

 ok, hello, hi 1K 1M, OMG जैसे बहुत से शब्द है।जिनका उपयोग हम हर दिन करते है। ऐसे ही एक शब्द है  RIP जिसका सोशल मीडिया और अन्य जगह भी बहुत ज़्यादा यूज़ किया जाता है। 

लेकिन आप जानते है इस शब्द का यूज़ तब किया जाता है जब किसी की मृत्यु हो जाती है।अपने इस शब्द को सोशल पर बहुत बार सुना होगा। ऐसे में आपके मन में कभी ना कभी तो यह ख़्याल आया होगा की आख़िर इस rip ka full form क्या होता है।

आज की इस पोस्ट में हम आपको रिप से जुड़ी कुछ बातें आपको बताये और जानेगे की meaning of rip in hindi. 

Rip full form meaning in hindi

RIP का Full Form Rest in Peace होता है। जिसका हिंदी में मतलब होता है। शांति से आराम करो या मारने वाले की आत्मा को शांति देने के लिए बोला और लिखा जाता है।

जब भी किसी व्यक्ति की मृत्यु होती है तो उसकी आत्मा की शांति के लिए इसका यूज़ किया जाता है। 

इस को लैटिन भाषा के एक वाक्य Requiescat in pace से लिया गया है जिसका मतलब भी होता है की मारने वाले की आत्मा को शांति मिले,

ईसाई धर्म को मानने वाले इस का यूज़ तब करते है जब किसी की मौत हो जाती है तो उसके कब्र पर भी RIP लिखा जाता है। यह इस लिए लिखा जाता है क्योंकि ईसाई और इस्लाम में पुनः जन्म नही होता

जैसा कि इस्लाम और ईसाई के मान्यताओं की माने तो, जब कभी जजमेट डे यानी की क़यामत की रात आएगी तो 

उस दिन कब्र में पड़े सभी शव फिर से ज़िंदा हो जायेगे, लेकिन तब तक उन्हें उस दिन का इंतज़ार करना होगा 

इस लिए मुस्लिम और ईसाई में कहा जाता है की उस क़यामत के दिन के इंतज़ार में “शांति से आराम करो “

लेकिन वही अगर सनातन धर्म की मान्यताओं की माने तो शरीर मरता है आत्मा नहीं, आत्मा तो अमर होती है।

जैसा कि भगवान श्री कृष्ण ने भगवत् गीता में अर्जुन से कहाँ है की आत्मा ना स्वर! है। आत्मा अजर है अमर है 

केवल शरीर ना नाश होता है। आत्मा एक शरीर से दूसरे शरीर में जाती है और अज्ञानी मनुष्य इस जीवन-मृत्यु के चक्र को सच समझता है। 

इसको और अच्छे से समझे के लिए आप नीचे दिए गए विडीओ को देख सकते है।

हालाँकि आज-कल हिंदू भी इस शब्द का उपयोग करने लगे है लेकिन जैसा की मैंने आपको ऊपर ही बताया की इस शब्द का यूज़ क्यों करते है 

पश्चिम देशों के बहुत से संस्कार-परम्पराओं को हमारे देश में बहुत ज़ोर-शोर से अपनाया जा रहा है यही कारण है की हम उनकी मान्यताओं को भी कही ना कही अपनाने लगे है। 

यह भी पढ़े

Best Hindi Blogs

Mutual Funds kya hai

पेटीएम अकाउंट कैसे डिलीट करे

आज हमें क्या जाना 

 दोस्तों आज की इस पोस्ट में हमने जाना की रिप का क्या मतलब होता है और इसे कब यूज़ करते है।  

आशा करता हूँ आपको पूरी जानकारी प्राप्त हो गयी हो गयी होगी आपका कोई सवाल या सुझाव है तो आप हमें कॉमेंट करके पूछ सकते है। पोस्ट को अपने दोस्तों, सोशल मीडिया पर शेयर करे।ताकि लोगों को सही जानकारी मिल सके 

1 thought on “RIP full form in hindi और रिप का उपयोग कब करते है- जाने”

Leave a Comment

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: