Affiliate Marketing Kya hai? join with Amazon, Flipkart Grow your Sell

affiliate marketing kya hai in hindi , Affiliate Marketing kya hai?

अगर आप ध्यान दे तो, भारत में इंटेरनेट का उपयोग करने वाले यूज़र की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है। पहले इंटेरनेट केवल शहरो तक ही सीमित था, लेकिन Jio के आने के बाद अब यह देश के हर एक कोने में पहुँच रहा है।ऐसे में आपके लिए एक अच्छा अवसर है की आप एफ़िलिएट मार्केटिंग जल्द से जल्द शुरू कर दे। फ़िलिएट मार्केटिंग क्या है कैसे काम करता है और एफ़िलिएट मार्केटिंग से पैसे कैसे कमाए, ऐसे बहुत सारे सवाल आपको काफ़ी ज़्यादा परेशान करते होगे।

जैसा की आप जानते है अब हम डिजिटल युग में जी रहे है जहाँ हमारे पास Computer, Internet, SmartPhone, Smart Device और AI ( Artificial Intelligence) जैसी टेक्नॉलजी भी है।ऐसे में लोग ऑनलाइन या फिर ऐसा कहे डिजिटल दुनिया कि ओर अपने कदम बहुत ही तेज़ी से बढ़ा रहे है।बहुत से लोग अब अपने  business को online ले जा रहे है। जहाँ वह अपने customer तक आसानी से पहुँच पाए।

ऐसे में आपके पास बहुत अच्छा समय है की आप भी इस डिजिटल दुनिया का अंश बने और अपने लिए एक Passive income का सोर्स generate करे। एफ़िलिएट मार्केटिंग एक अद्भुत तरीक़ा है ऑनलाइन पैसे कमाने का बहुत से लोगों इस तरीक़े के बारे में जानते है और बहुत से लोग ऐसे भी है जो इस तरीक़े के बारे में जानने के बाद भी इस सोच में रहते है कि क्या उन्हें एफ़िलिएट मार्केटिंग करना चाहिय या फिर नही?

आज कि इस पोस्ट में हम जानेगे की आप कैसे एफ़िलिएट मार्केटिंग शुरू कर सकते है और भारत में इसकी क्या संभावना है? क्या फ़ायदे है किसी भी कम्पनी के एफ़िलिएट नेटवर्क को join करने में। अगर आपको भी एफ़िलिएट मार्केटिंग में बारे में थोड़ा पता है या फिर आप कुछ भी नही जानते है कि एफ़िलिएट मार्केटिंग क्या होती है तो इस पोस्ट की हेल्प से आपके सारे doubt दूर हो जाएगे और आप भी एफ़िलिएट मार्केटिंग को बिना डरे शुरू करना चाहेंगे।

एफ़िलिएट मार्केटिंग क्या है?

एफ़िलिएट मार्केटिंग यह कोई नयी चीज़ नही है ऐसे अपने पहले भी बहुत बार किया होगा लेकिन ऑफ़्लाइन मार्केटिंग में जहाँ पर आप ने अपने दोस्त को किसी कम्पनी या दुकानदार के प्रोडक्ट को प्रमोट किया होगा लेकिन उस प्रोडक्ट के सेल होने के बाद आपको  कुछ भी नही मिला होगा।

लेकिन जैसा की मैंने आपको पहले ही बताया था अब हम डिजिटल युग में है और डिजिटल होने के अपने बहुत से फ़ायदे है। जहाँ पहले दुकानदार की पहुँच सिर्फ़ उसके ज़िले तक ही सीमित थी वही अब वह इस डिजिटल दुनिया का सदस्य बन कर अपनी shop को पूरे देश के कोने-कोने में फैला सकता है और इसका सबसे अच्छा Example JioMart, Amazon, CSC E-Store और भी बहुत सी कंपनिया है 

एफ़िलिएट मार्केटिंग इसको हम CPA/S (Click Per Acquisition/Sale) के नाम से भी जानते है यह एक ऐसा तरीक़ा है जहाँ हम किसी दूसरी कम्पनी के सामान को Online प्लाट्फ़ोर्म (जैसे :- Blog, Youtube Channel, Social media, WhatsApp) की मदद से promote या कस्टमर को recommend करते है। और जब कोई कस्टमर उस product को हमारे लिंक से purchase करता है तो हम उस प्रोडक्ट का कुछ फ़िक्स % commission sell वह कम्पनी हमें दे देती है।

प्रोडक्ट का कमिशन इस बात पर depend करता है की आप किस प्रकार का प्रोडक्ट प्रमोट कर रहे है सेल करने के लिए, जैसे की अगर आप Apparel & Accessories को प्रमोट करते है तो वहाँ आपको ज़्यादा कमिशन मिलता है लेकिन वही अगर आप Electronics product को प्रमोट करते है तो कम कमिशन मिलता है।

एफ़िलिएट मार्केटिंग काम कैसे करती है?

बहुत से लोगों के मन में अक्सर या सवाल ज़रूर आता है की एफ़िलिएट मार्केटिंग काम कैसे करती है।तो जैसा कि हम जानते है की 

हर company या organisation अपने product को ज़्यादा से ज़्यादा लोगों तक प्रमोट करना चाहती है ऐसे में company लोगों को अपने Affiliate Program को join करने के लिए ऑफ़र करती है ताकि उसके प्रोडक्ट की सेल को बढ़ाया जा सक़े।

एफ़िलिएट मार्केटिंग का बिज़्नेस कमिशन based होता है ऐसे में जब कोई वेबसाइट या ब्लॉग का owner उस प्रोग्राम को join करता है तो वह कम्पनी उसको अपने प्रोडक्ट का लिंक या बैनर उस के साथ share करती है ताकि वह इस लिंक या बैनर का उपयोग अपनी website या फिर blog पर कर सके। अब यह website के owner पर depend करता है की वह उस लिंक या बैनर को अपनी वेबसाइट पर कहाँ लगा सकता है।

अब जब भी कोई व्यक्ति उस ब्लॉग या वेबसाइट पर visit करेगा तो उसको वहाँ पर बहुत सारे ऑफ़र देखने को मिलेंगे, ऐसे में अगर वह व्यक्ति उस show offer पर क्लिक करेगा तो वह direct उस company की वेबसाइट पर चला जाएगा, ऐसे में जब वह यूज़र उस कम्पनी की साइट से कोई service या product buy करेगा तो वह company या organisation उस साइट के owner को कुछ कमिशन देगी।

Affiliate Marketing से जुड़ी ज़रूरी जानकारी 

Affiliate Marketing से जुड़ी कुछ बहुत ही important जानकारी जिसके बारे में आपको ज़रूर जानना चाहिय।

Affiliates : जो व्यक्ति Affiliate Program को Join करके अपनी साइट या ब्लॉग पर उनके प्रोडक्ट को प्रमोट करता है उसको affiliates बोला जाता है।

Marketplace :-  बहुत सी ऐसी companies है जो different- different categories में एफ़िलिएट प्रोग्राम ऑफ़र करती है उसे एफ़िलिएट मार्केटप्लेस कहाँ जाता है।

Affiliate ID :- यह एक unique ID होती है यह आपको तब मिलती है जब आप किसी कम्पनी का एफ़िलिएट प्रोग्राम को join करते है, इस यूनीक आई॰डी॰ की हेल्प से आप अपने Sales की जानकरी को प्राप्त कर सकते है।

Share Affiliate Link :- जब आप किसी प्रोडक्ट को अपनी साइट या ब्लॉग पर प्रमोट करेंगे तो वहाँ आपको एक लिंक दिया जाता है  जिसमें आपकी यूनीक आईडी मेन्शन होती है जब भी कोई visitors उस लिंक पर क्लिक करके उस प्रोडक्ट वेबसाइट पर पहुँचता है जहाँ से वह उस प्रोडक्ट को ख़रीद सक़े। इस लिंक की ही हेल्प से आपकी sales को track किया जाता है।

Commission :– एक सफल selling हो जाने के बाद उस प्रोडक्ट का कुछ precent commission उस वेबसाइट या ब्लॉग के owner (affiliates) को दे दिया जाता है जिसके माध्यम से यह सेल हुयी है यह amount कोई फ़िक्स amount नही होता है।

Link Clocking :- जब आप किसी लिंक को जेनरेट करेंगे तो वह देखने में काफ़ी बड़ा और अजीब लगते है उस लिंक को URL Shortners की हेल्प से छोटा करने को Link Clocking कहते है।

एफ़िलिएट मैनेजर :- कुछ एफ़िलिएट प्रोग्राम में affiliates की हेल्प करने के लिए और सेल कैसे आधिक हो यह सुझाव देने के लिए कुछ व्यक्ति नियुक्त किए जाते है जिनको हम एफ़िलिएट मैनेजर के नाम से जानते है।

पेमेंट मोड :- बहुत सारी companies अपने Affiliates को कमिशन देने के लिए अग़ल-अग़ल माध्यम का उपयोग करती है जिनको हम payment mode कहते है जो कुछ इस प्रकार से होते है  Cheque, wire transfer, PayPal, UPI इत्यादि।

Payment Threshold :- Affiliates को तभी कमिशन प्राप्त होता है जब वह कुछ minimum sale कर ले, इस sale करने के बाद ही आप payment earn करने के लायक़ बन पाते है

इस प्रक्रिया को Payment threshold बोला जाता है जो हर प्रोग्राम के लिए Payment threshold का amount अलग-अलग होता है।फ़िलिएट मार्केटिंग भी डिजिटल मार्केटिंग का एक पार्ट है 

affiliate marketing se paise kaise kamaye?

एफ़िलिएट मार्केटिंग से आज के समय में बहुत से blogger और Youtuber जुड़े है जो एफ़िलिएट के माध्यम से काफ़ी अच्छी income भी प्राप्त कर रहे है एफ़िलिएट मार्केटिंग के लिए ब्लॉग को सबसे अच्छा माना गया है। एफ़िलिएट मार्केटिंग को join करना बहुत ही आसान है इस प्रोग्राम को join करने के लिए आपको बस affiliate program  प्रोग्राम पर जा कर register करना होगा। प्रोग्राम join करने के बाद आपको उनके द्वारा दिए गए ads या product के link को अपनी वेबसाइट पर add करना होगा।

जब भी कोई विज़िटर हमारे ब्लॉग पर आने के बाद उस ads या product पर क्लिक करके उस प्रोडक्ट या सर्विस का उपयोग करेगा तो उसका कुछ precent कमिशन कम्पनी के owner द्वारा हमें दे दिया जाएगा।

लेकिन हम यह कैसे जान सकते है की कौनसी कम्पनी अपना affiliate program चला रही है? इसके लिए आप इंटेरनेट की हेल्प से सकते है ऐसी बहुत सी कम्पनी है जो अपना Affiliate program offer करती है join करने के लिए, कुछ तो बहुत ही ज़्यादा फ़ेमस है जैसे की :- Amazon, Flipkart, Godaddy, Bluehost etc. ऐसी बहुत सी कम्पनी है जिनके affiliate प्रोग्राम से जुड़ कर आप भी बहुत अच्छे पैसे काम सकते है।

आप चाहे तो आप direct किसी भी Affiliate Program Network को Join करके उसके लिंक को अपने Facebook, Youtube, WhatsApp पर direct ही share करके लोगों को product purchase करने के लिए Recommend कर सकते है।

Affiliate Marketing in India 

भारत में जैसे-जैसे इंटेरनेट यूज़र की संख्या बढ़ रही है वैसे ही एफ़िलिएट मार्केटिंग का scope भी ज़्यादा हो रहा है पहले के मुक़ाबले अब लोग इंडिया में भी ऑनलाइन शोपिंग करना पसंद कर रहे है क्यूँकि ऑनलाइन शोपिंग करने पर आपको काफ़ी अच्छे डिस्काउंट और कैशबैक जैसे ऑफ़र भी देखने को मिल जाते है

वही अगर आप same product को offline market से लेते है तो आपको इतने अच्छे offers नही मिलते देखने को, लोग अब पहले से ज़्यादा विश्वास करने लगे है Online सामान को लेने में, ऐसे में आप एफ़िलिएट मार्केटिंग से जुड़ कर लोगों को एक अच्छा प्रोडक्ट ख़रीदने में हेल्प भी कर पायेंगे और अपने लिए एक passive income का source भी बना पायेंगे।

Best Affiliate companies in India 

वैसे तो आपको बहुत से एफ़िलिएट प्रोग्राम मिल जाएगे, अगर आप पता करना चाहते है की कौनसी कम्पनी अपना Affiliate Program Offer कर रही है तो आप Simply उस वेबसाइट के नाम के आगे Affiliate लिख कर पता लगा सकते है।

यहाँ मैं आपको ऐसे ही कुछ Best Affiliate companies के बारे में बताऊँगा जो इंडिया में सबसे ज़्यादा यूज़ किए जाते है।

लिस्ट

  1. Amazon Affiliate Program 
  2. Flipkart Affiliate Program 
  3. Godaddy Affiliate Program 
  4. Bluehost Affiliate Program 
  5. Bigrock Affiliate Program 
  6. Siteground Affiliate Program 
  7. Hostinger Affiliate Program 
  8. ClickBank Affiliate Program 
  9. MakeMyTrip Affiliate Program 
  10. 10.OYO fitness Affiliate Program 

ऐसी बहुत सारी कम्पनी है जिनके प्रोग्राम को आप join कर सकते है।

Affiliate Marketing शुरू करने से पहले इन चीजों का ख़याल रखे 

अगर आप एफ़िलिएट मार्केटिंग शुरू करने जा रहे है तो आपको इन बातों की जानकारी होना बहुत ज़रूरी है।

1. आपके पास कोई वेबसाइट या ब्लॉग है तो आप Adsense और Affiliate Network को एक साथ यूज़ कर सकते है इससे आपके Adsense Policy का उलघन नही होगा।

2. कुछ affiliate program को शुरू करने के लिए वेबसाइट होना ज़रूरी होता है लेकिन ऐसे बहुत से प्रोग्राम है जिनको आप बिना वेबसाइट के भी join कर सकते है वेबसाइट होना आपके लिए एक Plus point है नही तो आप Facebook Group/Page, WhatsApp Group या किसी को Direct लिंक भेज कर प्रोडक्ट लेने के लिए Recommend कर सकते है।

3. किसी भी affiliate program को Join करने के लिए कोई पैसे नही लगते है यह Free होता है अगर कोई आपसे पैसे की डिमांड कर रहा है तो समझ जाए वह एफ़िलिएट प्रोग्राम नही है।

4. किसी भी एफ़िलिएट प्रोग्राम को join करना बहुत ही आसान होता है वहाँ कम्पनी के द्वारा माँगी गयी details आपको देनी होती है।जैसे :- 

  • Name 
  • Address 
  • Email ID 
  • Mobile Number 
  • PanCard details 
  • Blog/ Website URL( जहाँ आप उस कम्पनी के प्रोडक्ट को प्रमोट करेंगे)
  • Payment Details ( आप अपना कमिशन कहाँ लेना चाहते है)

5. अगर आप कोई नया Affiliate Network में enroll करने जा रहे है तो फिर आपको यह ज़रूर देखना चाहिय की क्या?

  • उसमें banners उपलब्ध है 
  • Promotional matter में क्या है 
  • Control Panel है या नही 
  • Payment Method क्या-क्या है 
  • Minimum Payout कितना होगा 
  • Tax Form की ज़रूर है या नही

इन कुछ बातों का ध्यान रख कर आप किसी भी affiliate program से जुड़ सकते है। लेकिन किसी भी प्रोग्राम से जुड़ने से पहले आप उस प्रोग्राम की policy को एक बार ध्यान से ज़रूर read कर ले ताकि बाद में आपको कोई प्रॉब्लम ना आए।

आशा करता हूँ इस पोस्ट की हेल्प से आपको Affiliate Marketing kya hai के बारे में बहुत कुछ पता चल गया होगा, और अब आपको किसी भी company या organisation के affiliate program को join करने में कोई परेशानी नही होगी, अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ ज़रूर शेयर करे।अगर अब भी आपका कोई सवाल या सुझाव है तो आप हमें कॉमेंट करके पूछ सकते है।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.