MacBook Vs Windows कौन सा Laptop ख़रीदना अच्छा हैं 2020?

 बहुत से लोग इस बात को ले कर काफ़ी कन्फ़्यूज़ रहते हैं की हमें कौन सा ऑपरेटिंग सिस्टम वाला PC/ Laptop लेना चाहिए ?शायद आप भी यही सोच रहे हैं की Apple के Macintosh ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ जाना चाहिय या फिर विंडोज़ (Windows) ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ ?अगर आप भी उन में से एक हैं जो MacBook Vs Windows की कश्मकश से जूझ रहे हैं , तो फिर आज की ये पोस्ट आपकी सभी परेशानियों को दूर कर देगा।

इस पोस्ट से आपको काफ़ी हेल्प मिलेगी अपने लिए Macintosh या Windows में से एक अच्छा ऑप्शन चुनने का मौक़ा मिलेगा ।

वैसे तो मैंने काफ़ी टाइम तक विंडोज़ ऑपरेटिंग सिस्टम ही यूज़ किया हैं। लेकिन  कुछ साल पहले जब मैंने अपना पहला Apple Macbook लिया उसके बाद मुझे समझ में आया की MacBook और Windows में बहुत ज़्यादा अंतर है।

मैं भी आपकी तरह  Mac Vs Windows की कश्मकश से जूझ रहा था, लेकिन फिर भी मैंने एक बार रिस्क लेने की सोची और अपनी इस कन्फ़्यूज़न से छुटकारा पा लिया।

 वैसे आज भी मुझे दोनो ऑपरेटिंग सिस्टम यूज़ करना पड़ता हैं , क्योंकि मेरा काम ही कुछ ऐसा है की मुझे पर्सनल उपयोग के लिए Macbook और ऑफ़िस के लिए Windows की ज़रूरत होती है।

 लेकिन मैं अपने अनुभव से आपकी टेन्शन को दूर करने की कोशिश  ज़रूर करूँगा और आपको आपके अनुसार विकल्प चुनने में आपकी मदद करूँगा।

MacBook vs Microsoft Windows में हार्डेवेयर चुनने की आज़ादी :-

MacBook Vs Windows की लड़ाई  में आप MacBook को चुनते हैं तो hardware को चुनने की आपकी आज़ादी पूरी तरह से ख़त्म हो जाती हैं ।

 क्योंकि Mac आपको फ़ुल customised मिलता हैं जिससे आपकी बहुत सी प्रॉब्लम खुद ही सोल्व हो जाती हैं। 

 MacBook में बस आपको थोड़ी आज़ादी मिलती हैं , जिससे आप hardware में sirf SSD को ही Extend कर सकते हैं ये बात थोड़ी परेशान कर सकती हैं।

MacBook में दिए गए Storage, RAM, Graphic Card आपको थोड़ा विचलित कर सकते हैं  विंडोज़ वाले laptop के मुक़ाबले थोड़े कम लग सकते हैं जहाँ same price में विंडोज़ PC में Mac से ज़्यादा RAM, Process और Storage देता हैं 

लेकिन अगर आप MacBook लेते हैं तो आपको समझ आ जाएगा की आप ग़लत सोच रहे थे storage, RAM हो या ग्राफ़िक कार्ड के बारे में क्योंकि Apple के प्रोडक्ट का डिज़ाइन apple खुद करता है।

वही अगर आप विंडोज़ के साथ जाना पसंद करेंगे तो वहाँ आपको पूरी आज़ादी होती हैं । अगर आप  Windows डेस्क्टाप ले रहे तो आपको पूरी आज़ादी मिलेगी।

 लेकिन अगर आप WIndows लैप्टॉप लेने की सोच रहे हैं तो आपको उसमें Mac से ज़्यादा फ़्रीडम मिलेगी जिससे आप HDD और SSD इक्स्टेंड करा सके, एक्स्ट्रा ग्राफ़िक कार्ड और RAM इक्स्टेंड कर सकेंगे। 

Windows PC लेते टाइम आप के पास पूरा कंट्रोल होता हैं की आपको क्या लेना हैं और क्या नही।

 अपने यूज़ के अनुसार जो hardware लेना चाहे वो ले सकते हैं वो SSD हो या HDD  या फिर प्रॉसेसर, ग्राफ़िक कार्ड या अन्य कोई भी hardware का ऑप्शन अपने हिसाब से चुन सकते हो।

आप अपने उपयोग के अनुसार अपने बजट को देखते हुए खुद का Windows PC बना सकते हैं ।

ऑपरेटिंग सिस्टम चुनने की आज़ादी 

विंडोज़ PC या लैप्टॉप की बात की जाए तो PC लेते टाइम आपके पास पूरी आज़ादी होती हैं की आप कौन सा ऑपरेटिंग सिस्टम (OS) यूज़ करना चाहते हैं।

लेकिन Mac में आपको Macintosh ही मिलेगा आपको इसके अलावा अगर विंडोज़ या लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम उस पर यूज़ करना चाहते हैं तो आपको किसी trird party software का उपयोग करना होगा।

नेटवर्किंग Vs प्रोग्रामिंग :-

आप अगर नेटवर्किंग के स्टूडेंट हैं या फिर नेटवर्क इंजीनियर हैं तो आप के लिए  विंडोज़ ऑपरेटिंग सिस्टम से अच्छा कोई OS नही होगा जहाँ आप Cisco के Packet tracer, GNS3, NetSim, Dynamips को आसनी से यूज़  कर सकते हैं और अपनी डेली होने वाली नेटवर्किंग प्रॉब्लम को solve कर सकते है ।

Dell (Windows Laptop)

 और भी अन्य नेटवर्किंग ऐप्लिकेशन को यूज़ कर पायेंगे, सर्वर create कर पायेंगे और खुद practical  भी कर पायेंगे जो आप Mac मैं नही कर सकते वहाँ इसको करने में आपको काफ़ी दिक़्क़तों का सामना करना पड़ सकता है । 

 इसके लिए Mac में आपको Windows इंस्टॉल करना होगा वर्चूअल मशीन की हेल्प से जो आपकी इन दिक़्क़तों को पूरी तरह से हल कर देगा।

 एक प्रोग्रैमर जो एक अच्छा response चाहता हैं  की जब वह कोई कोड लिखे तो कोई परेशानी ना आए ना तो कोई हैकर malware, virus, torjan उसके सिस्टम में इंस्टॉल कर दे, इसलिए वो Mac लेना पसंद करते हैं ।

क्योंकि इसमें विंडोज़ जैसे सोफ्टवेयर crash नही होता। कोई भी सिस्टम developer  यह नही चाहेगा की उसका data और पर्सनल फ़ाइल crash हो जाए 

Macbook

 तो आपको Mac के साथ जाना चाहिए  क्यूँकि यह क्रॉस प्लाट्फ़ोर्म को सपोर्ट करता हैं अगर आप एक नए प्रोग्रैमर हैं तो Unix के बारे में अपने सुना ही होगा जो की बहुत secure हैं विंडोज़ के मुक़ाबले, OS X Unix based command-line से मिलता जुलता हैं जो Mac को सपोर्ट करता हैं।

वही हम OS X में विंडोज़ मशीन को चला सकते हैं लेकिन विंडोज़ मशीन में OS X को यूज़ करने के लिए आपको इसका हैक वर्ज़न यूज़ करना होगा जो विंडोज़ मशीन के लिए बेहद मुश्किल  काम हो जाता हैं। लेकिन देखा जाए तो Mac में बिना किसी परेशानी के विंडोज़ को यूज़ किया जा सकता हैं।

बहुत से ऐसे टूल हैं जो सिर्फ़ विंडोज़ के लिए हैं और बहुत से ऐसे टूल भी हैं जो सिर्फ़ Mac के लिए हैं आप वर्चूअल मशीन बना कर विंडोज़ को Mac पर बिना  किसी टेन्शन के यूज़ कर सकते हैं 

वैसे आप विंडोज़ के साथ भी जा सकते हैं लेकिन वहाँ आपको कुछ प्रॉब्लम का सामना करना पड़ सकता हैं। लेकिन Mac में आप इन परेशानीयो  से दूर रहेंगे।

MacBook Vs Windows Performancne :-

Mac का हार्डेवेयर उसके ऑपरेटिंग सिस्टम के अनुसार ही डिज़ाइन किया जाता हैं ।जो की Apple खुद ही करती हैं जिससे  आपको अच्छा प्रदर्शन देखने को मिलता हैं चाहे आप ब्राउज़िंग करे, किसी फ़ाइल को एडिट करे या फिर आप विडीओ एडिट करे।

 हेवी से हेवी ऐप्लिकेशन को Mac आराम से हैंडल कर सकता  हैं और इसमें आपको हैंगिंग प्रॉब्लम का भी कम सामना करना पड़ता हैं इसलिए यह बोला जाता हैं Once a Mac user always a Mac user. 

 लेकिन विंडोज़ में इसकी कमी कही ना कही देखने को मिल जाती हैं। विंडोज़ का हार्डेवेयर यूनिवर्सल होता हैं उसको सिर्फ़ विंडोज़ ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए ही डिज़ाइन नही किया जाता वहाँ आप कोई भी OS यूज़ कर सकते हैं।

 लेकिन विंडोज़ हेवी सोफ्टवेयर को हैंडल करने में असमर्थ हैं इसके लिए आपको महँगे विंडोज़ लैप्टॉप लेने होगे जो लेटेस्ट प्रॉसेसर के साथ हो। 

third party application Support in Windows vs Apple MacBook

Mac में आपको third party application की समस्या देखने को मिलती हैं ऐसा तभी होता हैं जब हम कोई ऐसा ऐप इंस्टॉल करते हैं जो हमारी सिक्यरिटी और प्राइवसी को नुक़सान पहुँचता सकता हैं।

 वैसे आप इंटर्नेट से डाउनलोड कर के कोई भी सोफ्टवेयर को उपयोग में ला सकते हैं और Mac इसके लिए आपको ज़्यादा परेशान नही करता लेकिन कोई ऐप आपकी प्राइवसी को नुक़सान पहुँचा सकता हैं या वो किसी वेरिफ़ाई डिवेलपर द्वारा सिक्यर नही होगा तो Mac अपनी सिक्यरिटी की वजह से उस ऐप्लिकेशन को allow नही करेगा चाहे आप कितनी भी क़ोशिश कर ले। यह आपकी सिक्यरिटी और प्राइवसी का बहुत ध्यान रखता हैं।

काफ़ी सारे ऐप्लिकेशन आप इसके app Store से भी डाउनलोड कर सकते हैं लेकिन free वाले ऐप्लिकेशन आपको कम ही देखने को मिलते हैं। 

कुछ apple के फ़्री वाले ऐप्लिकेशन ऐसे हैं जो आपके बहुत काम  आयेंगे जिनको आप विंडोज़ में नही पा सकते उनकी कमी आपको कही ना कही महसूस होगी। 

जैसे :- 

  • keynote, 
  • Numbers, 
  • iMovie।
  • Photo
  • Garageband

विंडोज़ के माइक्रसॉफ़्ट स्टोर पर आपको बहुत सारे ऐप्लिकेशन मिल जाते हैं जो कही ना कही ऐपल के App store से काफ़ी ज़्यादा हैं । 

आप किसी भी ऐप्लिकेशन को इंटर्नेट से डाउनलोड कर के उपयोग कर सकते हैं विंडोज़ इसके लिए आपको उतना परेशान नही करता। इसका सिक्यरिटी सिस्टम किसी भी ऐप को आसानी से allow कर देता हैं जिसकी वजह से विंडोज़ में Mac के मुक़ाबले ज़्यादा वाइरस देखने को मिलते हैं और कई बार ऐसा भी देखने को मिलता हैं की हम जो ऐप इंस्टॉल कर रहे हैं विंडोज़ में वो ऐप तो इंस्टॉल होता ही हैं उसके साथ और भी कोई ना कोई ऐप ऑटमैटिक इंस्टॉल हो जाता हैं जो कही ना कही हमारे सिस्टम को नुक़सान पहुँचता हैं 

बैटरी प्रदर्शन Windows के Laptop और Apple के Laptop में :-

बैटरी प्रदर्शन के मामले में Apple के MacBook काफ़ी सफल हैं जो आपको 8-9 hours का बैकउप प्रदान करते हैं  जैसा apple दावा करता है  आपको बैटरी लाइफ़ देखने को मिलता हैं और यह चार्ज भी जल्दी हो जाते हैं।

 अगर आप मैकबुक लेते हैं तो आपको यह भी याद नही रहेगा की अपने अपना मैकबुक कब shutdown किया था। क्यूँकि इसका हार्डेवेयर ऐसा डिज़ाइन किया गया हैं जिससे यह Sleep Mode में बैटरी को बहुत ही कम यूज़ करता हैं।

 अगर आपका मैकबुक 10% चार्ज हैं और आप उसको 2 दिन बाद भी खोलेंगे यूज़ करने के लिए तो आपको बैटरी 7-8% तक मिल जाएगी।

लेकिन विंडोज़ के लैप्टॉप में यह कमी देखने को मिलती हैं  क्यूँकि विंडोज़ के ऐप्लिकेशन बैकग्राउंड में रन करते रहते हैं जो बैटरी का काफ़ी ज़्यादा उपयोग करते हैं ।

लेकिन आप उन ऐप्लिकेशन को बंद करके अपने लैप्टॉप की बैटरी लाइफ़ को बढ़ सकते हैं।वही अगर आप विंडोज़ के लैप्टॉप को Lock करके रख देते हैं तो भले ही बैटरी 100% क्यू ना चार्ज लेकिन 2दिन बाद या फिर एक दिन बाद भी ओपन करेंगे तो बैटरी आपको डिस्चार्ज ही मिलेगी।

For Gaming :-

आपको App store पर काफ़ी सारे गेम मिल जाएगे खेलने को जो एक अच्छा टाइम पास करा देते हैं लेकिन ये उनके लिए नही हैं जो हार्डकोर गेमर हैं यहाँ मिलने वाले गेम आपको वो मज़ा नही देंगे जो आप विंडोज़ के लैप्टॉप/ PC में ले सकते हैं। 

विंडोज़ गेमिंग के लिए बेस्ट हैं  इसमें हमें Playstation, Xbox और भी अन्य बहुत से ऑप्शन मिल जाते हैं जो आपको एक अच्छा experience देते हैं। 

अगर आपको गेमिंग पसंद हैं तो आपको Mac नही windows ही लेना चाहिए , Mac ले कर आप पछता सकते हैं।

सपोर्ट :-

जहाँ तक सपोर्ट की बात हैं तो apple top पर रैंक करती हैं अपने डिवाइस सपोर्ट के मामले में अगर आपको कोई भी प्रॉब्लम हो तो आप बिना किसी टेन्शन के इनके techsupport पर कॉल कर सकते हैं।

आपको पूरा सपोर्ट मिलेगा, ऐपल के सारे प्रोडक्ट 90-days फ़ोन सपोर्ट के साथ आते हैं और One-year warranty मिलती हैं।

मैंने काफ़ी टाइम Apple Care में कॉल करके सपोर्ट लिया हैं मुझे मेरी समस्या का हर बार समधान मिला हैं। software से जुड़ी कोई भी प्रॉब्लम हो तो वो इसके लिए आपकी पूरी सहायता करते हैं भले की कितना टाइम क्यों ना लग जाए और समधान होने के बाद भी वो आपसे one-week तक follow-up लेते हैं की फिर कोई प्रॉब्लम तो नही आ रही, ये बात लाजवाब हैं जो आपको पूरी तरह संतुष्ट कर देती हैं 

विंडोज़ सपोर्ट की बात की जाए तो वह भी आपको कोई उतनी प्रॉब्लम नही मिलती देखने को, लेकिन एक बार मैंने कॉल किया था माइक्रसॉफ़्ट सपोर्ट पर ऐसा लगा जैसे उनका एजेंट बिना मन के मेरी हेल्प कर रहा हो। इससे अच्छा रहेगा की आप इंटर्नेट से की अपनी प्रॉब्लम का समधान देख ले। 

एक झलक – 

आज हमने इस MacBook vs Windows से सम्बंधित सभी जानकारियों को बारीकी से जाना है, जैसे Hardware के बारे में, Software के बारे में, Performance, Gaming, Support इट्सेटरा।

अगर हमारे किसी पाठक को लगता है की हमसे कोई जानकारी साझा करना रह गया है तो कृपया हमें कॉमेंट करके बताए। हम उसे अप्डेट करेंगे जिससे पाठकों को ज़्यादा से ज़्यादा जानकारी प्राप्त हो।

आशा करता हूँ इस पोस्ट से आपकी परेशानी दूर हो गयी होगी तो इसको अपने दोस्तों के साथ साझा करे जो Mac Vs Windows operating system को select करने में परेशान हो जिससे उन्हें अपने उपयोग के अनुसार एक अच्छा डिवाइस लेने में हेल्प हो सके।

JUSTFORYOU.IN सभी पाठकों को हमारे पुराने पोस्ट Amazon Prime Video जोकी 14 दिन का फ़्री trail  को अपना प्यार देने के लिए धन्यवाद कहता है। 

आप सभी के लिए हम सभी जानकारियों को हमेशा लिखते रहेंगे अपना प्यार ऐसे ही बनाए रखिए। धन्यवाद।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.